मित्रों संग




श्रेष्ठ भोजन से 2018 प्रारंभ
सुबह 7 बजकर 54 मिनट पर प्रिय Umashankar Mishra जी का फोन आया कि रविवार को घर पर भोजन और चर्चा हेतु आप को आना है साथ में संजीव सिन्हा और Ashish Kumar Anshu जी से बात हो गयी है फिर क्या मेरे लिए तो आदेश ही था यह।
अगले रविवार को किसी अन्य मित्र के घर पर भोजन और चर्चा। इंतज़ार....

Comments

Popular posts from this blog

एक वरदान है पुस्तक मेला

स्वामी विवेकानंद से प्रेरणा लें युवा